सोमवार से आईटी कंपनियां 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ अपना काम शुरू कर सकती हैं

केंद्र सरकार ने कहा है कि सोमवार से आईटी (I.T.) और आईटीईएस (I.T.E.S.) कंपनियां 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ अपना काम शुरू कर सकती हैं।

सोमवार से आईटी कंपनियां 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ अपना काम शुरू कर सकती हैं

अप्रैल 18, 2020

केंद्र सरकार ने कहा है कि सोमवार से आईटी (I.T.) और आईटीईएस (I.T.E.S.) कंपनियां 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ अपना काम शुरू कर सकती हैं। लेकिन एक सवाल यह भी है कि कंपनियों के कर्मचारी इतनी जल्दी ऑफिस में दोबारा काम करने न आ पाए। कर्नाटक में उप मुख्यमंत्री अश्वत नारायण के साथ हुई बैठक में  यह मुद्दा उठा है। उप मुख्यमंत्री ने भी कहा है कि हो सकता है कि कंपनियों को 50 फीसदी कर्मचारियों को दोबारा वापस लाने के लिए हफ्तों लग सकते हैं। बॉकान कंपनी की प्रबंध निदेशक किरण मजमूदार ने बैठक में कहा, पुलिस की ओर से जारी किए गए पास सिस्टम ने अच्छा काम किया है। इसको और आगे बढ़ाया जाना चाहिए। अतिरिक्त पास भी जारी किए जाने चाहिए। निजी कार कंपनियों को इतनी जल्दी छूट नहीं मिलनी चाहिए। इसकी जगह BMTC बसों को शुरू किया जाना चाहिए।

Coronavirus : दिल्ली में डिलीवरी वाला निकला कोरोना पॉजिटिव, 72 परिवार हुए क्वारैन्टाइन

बता दें कि सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) उद्योग के संगठन नैसकॉम (NASSCOM) ने कहा है कि आईटी कंपनियां कर्मचारियों को चरणबद्ध तरीके से कार्यालय से काम करने के लिए बुलाएंगी। शुरुआत में 15 से 20 प्रतिशत कर्मचारियों का ही दफ्तर बुलाये जायेंगे। गृह मंत्रालय ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर बुधवार को इस बारे में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। कोरोना वायरस को रोकने के लिए सरकार ने लॉकडाउन को बढ़ाकर तीन मई तक कर दिया है। 

गृह मंत्रालय ने राष्ट्रव्यापी बंद की बढ़ी अवधि के दौरान राज्यों, संघ शासित प्रदेशों तथा आम जनता के लिए दिशा-निर्देश जारी किए। दिशा-निर्देशों के अनुसार आईटी और आईटी आधारित सेवा कंपनियों को 50 प्रतिशत तक कर्मचारियों के साथ काम करने की अनुमति दी गई है।
नैसकॉम (NASSCOM) ने ट्वीट किया, ‘हम चरणबद्ध तरीके से कर्मचारियों को कार्यालय बुलाएंगे। शुरुआत में 15 से 20 प्रतिशत कर्मचारियों को ही कार्यालय बुलाया जाएगा।’

बताते चले कि बंद के पहले चरण 24 मार्च से 14 अप्रैल के दौरान सरकार ने आईटी और आईटी आधारित सेवा कंपनियों को महत्वपूर्ण कामकाज के लिए सिर्फ नाममात्र कर्मचारी ही कार्यालय बुलाने की अनुमति दी थी। अभी आईटी कंपनियों के ज्यादातर कर्मचारी घर से ही काम कर रहे हैं।

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App